We will not be able to receive your calls on our official numbers as it will remain closed on 26th, 27th & 28th October on the occasion of Diwali. You can send your queries at e-mail id - herbalremedies123@yahoo.com. We will reply to you ASAP. The Centre will reopen at 11:00 AM on 29th October.

आईटीपी (इडियोपैथिक थ्रॉम्बोसाइटोपेनिक पुरपुरा) रोगियों के लिए डाइट प्लान

सुबह 5:30 बजे: सबसे पहले: 1-2 गिलास गुनगुना पानी पियें। तत्पश्चात नित्य कर्म से निवृत होने के लिए जायें।

सुबह 6:00 बजे: खाली पेट: 4-5 बादाम (रात भर भिगोए हुए व छिलका रहित) / घृतकुमारी का रस (20 मि.ली. 1 कप पानी में) / 1-2 अंजीर (रातभर भिगोए हुए) / पपीते के पत्तों का रस २ चम्मच / 2-3 आँवले प्रतिदिन खायें।

सुबह 6:15 बजे: 30-45 मिनट सैर, 30 मिनट (दैनिक व्यायाम, योग और ध्यान)

सुबह 8:00 बजे: नाश्ता: 1 कटोरा (दलीया / पोहा / उपमा) / 1 सैंडविच सब्जियों वाला (भूरी ब्रेड, विभिन्न अनाज की ब्रेड) / 2 उबले हुए अंडे का सफेद भाग / 1-2 चपाती + सब्जी या दाल / मूँग दाल की खिचड़ी

दोपहर 11:00 बजे: मध्य भोजन: फल / हर्बल चाय / हरी चाय / अनार का रस 50 मि.ली. / गाजर का रस 50 मि.ली. / चकुंदर का रस 20-30 मि.ली. / कद्दू का रस 50 मि.ली. / हरे नारियल का पानी

दोपहर 1:00-2:00 बजे: लंच: दोपहर के भोजन से पहले 1 कटोरा सलाद । 1 - 2 चपाती / चावल + दाल + सब्जी / मूँग दाल खिचड़ी

शाम 5:00 बजे: फल / सूप / हर्बल चाय / सलाद / सबुदाना खीर / हरी चाय

रात 8:00 बजे: डिनर: 1-2 चपाती + दाल / सब्जी / मूँग दाल की खिचड़ी / साबुदाना की खिचड़ी

सब्जियाँ जो खानी चाहिए:

टिण्डा, लौकी, तोरी, करेला, गाजर, कद्दू, शिमला मिर्च, शलजम, चकुंदर, ब्रोकोली, मूली, पालक, फूलगोभी, पत्तागोभी, शकरकंदी, आलू, मटर, हरी पत्तेदार सब्जियां फाइबर में समृद्ध

सब्जियाँ जो नहीं खानी चाहियें:

प्याज, लहसुन, अदरक, टमाटर, बैंगन

फल जो खाने चाहियें:

सेब, केला, आड़ू, नाशपाती, पपीता, कीवी, तरबूज, खरबूजा, सीताफल, चिकू, अनानास, अंजीर

फल जो नहीं खाने चाहियें:

खट्टे फल जैसे संतरे, नींबू, काले अंगूर

दालें जिनका प्रयोग करना चाहिए:

सभी दालों का प्रयोग कर सकते हैं।

मसाले और तेल जिनका प्रयोग करना चाहिए:

मेथी, धनिया, करी पत्ता, सौंफ, इलायची, जीरा, हल्दी, दालचीनी सूरजमुखी तेल, जैतून का तेल

मसाले जिनका प्रयोग नहीं करना चाहिए:

लाल मिर्च, हरी मिर्च, लौंग, ज्यादा नमक

अन्य उत्पाद जिनका प्रयोग करना चाहिए:

गेंहू का आटा, मल्टीग्रेन आटा, भूरे चावल, हरी पत्तेदार सब्जियाँ

अन्य उत्पाद जिनका प्रयोग नहीं करना चाहिए:

मैदा, तला भोजन, पिज्जा, बर्गर, चोकलेट, अचार, पापड़, चटनी, सिरका, सफेद चावल, दूध, दही, पनीर

नोट:-

  1. प्लेटलेट की गिनती बढ़ाने के लिए गाजर और चकुंदर का रस बहुत कारगर है। 50 मिलीलीटर रस प्रतिदिन एक या दो बार लें।
  2. ताज़े कद्दू के रस का आधा गिलास प्रतिदिन पीना चाहिए।
  3. 2 कप पानी में ताजे पपीते के 4-5 पत्ते उबालें। इसे ठंडा करके, छानकर, दिन में दो बार पियें।
  4. अनार का रस भी बेहद फायदेमंद है। आप अनार के रस का एक गिलास रोजाना पी सकते हैं।
  5. अपने भोजन के साथ प्रतिदिन चकुंदर सलाद के रूप में रोजाना खाएं।
  6. सुबह 3-4 आँवले खाली पेट खाएं।
Share On

Knowledge Base

Diseases A-Z

View All

Herbs A-Z

View all
Let’s Connect
close slider
Leave a Message

error: Content is protected !!
WhatsApp chat